अगर कोरोना वायरस को देनी है मात तो याद रखो ये बहुत जरूरी बात

लखनऊ: कोविड-19 के बहुत हल्के या बिना लक्षण वाले उपचाराधीन और उनकी देखभाल करने वाले व्यक्ति को होम आइसोलेशन के दौरान कुछ खास सावधानी बरतनी चाहिए ताकि वह जल्द से जल्द कोरोना को मात दे सकें. घर पर रहकर इससे मुक्ति पाने का यह मतलब कतई न समझें कि आप पूरी तरह सुरक्षित हैं और जैसे चाहें वैसे ही घर पर रहें. ऐसा करना आपके साथ ही आपके घर वालों को भी खतरे में डाल सकता है.

आपदा को अवसर में बदल दिया इन महिलाओं ने, जानिए इनकी कहानी

इसलिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताये गए नियमों का पूरी तरह पालन करें, इसी में सभी की भलाई है. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग कोरोना के उपचाराधीन और देखभाल करने वालों को किन बिन्दुओं पर ध्यान देना है, इसका समुचित प्रचार-प्रसार भी करने में जुट गया है.

कार्यशाला में बोले सभी- जैसे पोलियो को हराया वैसे ही कोरोना को भी हराएं

चिकित्सक डॉ. तनया त्रिपाठी का कहना है कि होम आइसोलेशन के दौरान उपचाराधीन को पूरे समय तीन लेयर वाले मेडिकल मास्क का उपयोग करना चाहिए. आठ घंटे बाद या गीला होने पर मास्क को अवश्य बदल लेना चाहिए. मास्क को एक फीसद सोडियम हाइपोक्लोराइट के घोल में डुबोने के बाद ही ढक्कन वाले डस्टबिन में डालना चाहिए. इस दौरान एक सुनिश्चित कमरे में ही रहना चाहिए और बुजुर्गों व गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों के संपर्क में नहीं आना चाहिए.

यूपी: प्रवासी कामगारों ने बनाया चेक डैम, फसलों के लिए पानी का इंतजाम

ज्यादा से ज्यादा आराम करना चाहिए और तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए. सांस के स्वच्छता संबंधी नियमों का पालन करना चाहिए. हाथों को बार-बार 40 सेकण्ड तक साबुन-पानी या अल्कोहल आधारित सेनेटाइजर से साफ़ करते रहना चाहिए. अपने निजी सामानों को अन्य किसी से शेयर नहीं करना चाहिए. बार-बार छुई जाने वाली चीजों जैसे- दरवाजे, हैंडल, नॉब्स, मेज व सतह आदि को एक फीसद हायपोक्लोराइट के घोल से साफ़ करते रहना चाहिए.

यूपी: राष्ट्रीय आजीविका मिशन के कारण संभव हो पाई कोरोना से लड़ाई

चिकित्सक द्वारा बताये गए नियमों का पालन करने के साथ ही दवाओं का सेवन समय से करते रहना चाहिए. अपने स्वास्थ्य पर निगाह रखनी चाहिए और शरीर के तापमान को देखते रहना चाहिए. किसी भी प्रकार की दिक्कत होने या कोई शारीरिक परिवर्तन नजर आने पर चिकित्सक को अवश्य अवगत कराना चाहिए. इस तरह इन जरूरी बातों का ख्याल रखने से वायरस को मात देने में जल्दी सफलता मिल सकती है.

देखभाल करने वालों के लिए हाथों की सफाई व मास्क बहुत जरूरी-

  • उपचाराधीन या उसके किसी वस्तु के संपर्क में आने के बाद हाथों की सफाई अवश्य करें
  • शौचालय का उपयोग करने के बाद, भोजन करने से पहले, भोजन तैयार करने से पहले और बाद में हाथों की सफाई अवश्य करें
  • हाथ धोने के लिए कम से कम 40 सेकण्ड तक साबुन-पानी का उपयोग करें या अल्कोहल आधारित हैण्ड सेनेटाइजर का इस्तेमाल करें
  • हाथ धोने के बाद डिस्पोजेबल पेपर या निजी तौलिये से हाथों को पोछकर सुखा लें
  • इस दौरान थ्री लेयर वाले मेडिकल मास्क का इस्तेमाल भी बहुत जरूरी है