बुलंदशहर हिंसा के आरोपी ने अखिलेश और प्रियंका को भेजा कानूनी नोटिस

(बुलंदशहर से सुमित शर्मा की रिपोर्ट) यूपी के बुलंदशहर में साल 2018 में हुई हिंसा के आरोपियों में से एक शिखर अग्रवाल ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह को अपने वकील के मार्फत कानूनी नोटिस भेजा है.

बुलंदशहर के स्याना में गोकशी की वारदात के बाद 3 दिसंबर 2018 को भड़की स्याना हिंसा के मुख्य आरोपियों में से एक शिखर अग्रवाल ने प्रियंका गांधी, अखिलेश यादव और संजय सिंह को मानहानि का नोटिस भेजा है.

शिखर का आरोप है कि इन तीनों नेताओं ने उनको ट्विटर पर इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या का आरोपी कहा था. आपको बता दें कि करीब एक हफ्ते पहले भाजयुमो के पूर्व नगर अध्यक्ष शिखर अग्रवाल को प्रधानमंत्री के नाम पर बनाई गई संस्था प्रधानमंत्री जन कल्याण योजना जागरूकता अभियान का जिला महासचिव बनाया गया था.

इस मनोनयन पर काफी विवाद हुआ था और भाजपा के जिला अध्यक्ष ने साफ कहा था कि संगठन का उनकी पार्टी से कोई ताल्लुक नहीं है. विवाद के बाद संगठन ने भी उन्हें पद से हटा दिया था.

आपको बता दें कि तीन दिसंबर, 2018 को बुलंदशहर के स्याना इलाके में हुई हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह शहीद हो गए थे. गोकशी की एक घटना के बाद लोगों ने पुलिस चौकी पर हमला बोल दिया था. आगजनी, पथराव तोड़फोड़ और हिंसा में कई लोग घायल भी हुए थे.

शिखर अग्रवाल और योगेश राज को इस हिंसा का मुख्य अभियुक्त बनाया गया था और बाद में इऩकी गिरफ़्तारी भी हुई थी. पिछले साल 25 अगस्त को इलाहाबाद हाईकोर्ट के एक आदेश के बाद इस मामले में कुल 33 अभियुक्तों में से सात अभियुक्तों को ज़मानत पर रिहा कर दिया गया था. शिखर भी जमानत पर बाहर हैं. अब शिखर अग्रवाल ने कांग्रेस, सपा और आप नेताओं को वकील के माध्यम से नोटिस भेजे हैं.