किसानों की शिकायत पर एसएमआई तलब, कारण बताओ नोटिस जारी

यूपी के देवरिया जिले के भटनी ब्‍लॉक में एसएमआई मुकेश कुमार द्वारा किसानों का गेहूं न खरीदने के मामले में कार्यवाही करते हुए जिला खाद्य विपणन अधिकारी ने कारण बताओ नोटिस जारी कर स्‍पष्‍टीकरण मांगा है. पिछले दिनों खोरीबारी निवासी समाजसेवी व देशप्रेमी इंडिया फाउंडेशन के सचिव धीरज राय ने किसानों के गेहूं खरीदारी न किए जाने को लेकर सीएम व उच्‍चाधिकारियों से शिकायत की थी, जिसके बाद अब एसएमआई को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. जिला खाद्य विपणन अधिकारी देवरिया की ओर से जारी नोटिस में एमएमआई मुकेश कुमार से जवाब मांगा गया है.

इस पत्र में लिखा गया है कि भरहेचौरा निवासी आनंद सिंह का गेहूं क्रय न करने व आज कल कहकर टालने की शिकायत की गई है. इस शिकायत में यह भी उल्‍लेख है कि आपके द्वारा किसानों को भला बुरा भी कहा गया है और उनका गेहूं क्रय नहीं किया गया है, जबकि आपको पूर्व में भी उच्‍चाधिकारियों ने पत्र, समीक्षा बैठक, निरीक्षण और दूरभाष के माध्‍यम से लगातार निर्देशित किया गया था कि भटनी क्रेन्‍द्र पर लक्ष्‍य के सापेक्ष गेहूं क्रय संतोषजनक नहीं है. गेहूं क्रय में गति प्राथमिकता पर लायें, परंतु आपके द्वारा रूचि लेकर गेहूं क्रय नहीं किया गया. आपके इस कृत से स्‍पष्‍ट हो रहा है कि आपके द्वारा मनमाने तरीके से कार्य किया जा रहा है. यह स्‍थिति अत्‍यंत ही आपतिजनक एवं घोर लारवाही का द्योतक है. अत: आप अपना स्‍पष्‍टीकरण कार्यालय को उपलब्‍ध करायें. यदि आपके द्वारा संतोषजनक उत्‍तर नहीं दिया जाएगा तो आपके विरूद्ध कार्यवाही की संस्‍तुति दी जाएगी.

जिला खाद्य विपणन अधिकारी की ओर से इस नोटिस की प्रतिलिपि जिलाधिकारी, संभागीय खादय नियंत्रक गोरखपुर व अपर जिलाधिकारी/ जिला खरीद अधिकारी को भी प्रेषित की गई है.

ये है पूरा मामला

भटनी ब्‍लॉक के भरहेचौरा निवासी किसान आनंद कुमार सिंह, सुरेन्‍द्र कुशवाहा, रितेश तिवारी, उस्‍का ग्राम निवासी भारतेन्‍दु सिंह, रमेशचंद्र सिंह समेत अन्‍य किसानों का कहना है कि अप्रैल से लेकर जून तक वह गेहूं क्रय के लिए लगातार जाते रहे लेकिन एसएमआई ने न केवल उन्‍हें बार बार बाद में आने का कहकर टरकाया, बल्‍कि उनके टोकन भी जमा करा लिए और कहा कि आपको बाद में सूचित किया जाएगा, लेकिन आज दिनांक तक न तो सूचना दी गई और नहीं खरीदारी हुई. जिसकी शिकायत समाजसेवी धीरज राय की तरफ से उच्‍चाधिकारियों से की गई, जिसके बाद एसएमआई भटनी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. हालांकि किसानों का कहना है कि समस्‍या का निस्‍तारण कारण बताओ नोटिस नहीं है. उनके गेहूं की खरीदारी है जो अभी तक नहीं हुई.