डीएम के फर्जी आदेश लेकर अवैध खनन के वाहन को छुड़ाने पहुंचा आरोपी

(बुलंदशहर से सुमित शर्मा की रिपोर्ट) यूपी के बुलंदशहर में एक जालसाज पकड़ा गया है जो जिलाधिकारी के फर्जी आदेश लेकर अवैध खनन में पकड़े गए वाहन को छुड़ाने के लिए पहुंचा था. अब पुलिस इस मामले के तमाम तारों को खंगाल रही है कि क्या पहले भी कभी इस तरह से कोई वाहन छुड़ाया तो नहीं गया.

इस मामले में अवनीश चौधरी नाम के एक शख्स को पुलिस ने गिरफ्त में लिया है जिस पर गिट्टी से भरे एक ट्रक को छुड़ाने के लिए बुलंदशहर के जिला अधिकारी का फर्जी मोहर लगाकर हस्ताक्षर युक्त पत्र जारी करने का आरोप है.

जिला खनन अधिकारी डॉक्टर दीपक कुमार ने बताया कि 21 जुलाई को रेत का अवैध खनन करके लाए गए ट्रक को पकड़ा गया था. दस्तावेज न होने पर ट्रक को सीज कर दिया गया था मगर 23 जुलाई को जिलाधिकारी कार्यालय से फर्जी मोहर लगाकर एडीएम न्यायिक के हस्ताक्षर कर ट्रक रिलीज करने के आदेश युक्त पत्र बना अवनीश चौधरी कोतवाली पहुंचा.

कोतवाली में अवनीश ट्रक को छुड़ाने के लिए मुंशी से गुहार लगाने लगा लेकिन मौजूद थाने के मुंशी ने जिला खनन अधिकारी को फोन कर ट्रक रिलीज करने के आदेश के बारे में पुष्टि की. मौके पर पहुंचे जिला खनन अधिकारी ने पत्र को फर्जी पाया. जिला खनन अधिकारी ने आरोपी के खिलाफ जिलाधिकारी का फर्जी आदेश पत्र जारी करने का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करा दिया है. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया है।.

अभी तक की जांच में पता चला है कि आरोपी पहले भी इस तरह फर्जी दस्तावेजों के जरिए वाहन छुड़वा चुका है. अब पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि आरोपी अवनीश ने पहले कहां कहां और कब कब इस तरह से अवैध खनन के वाहनों को छुड़ाया है.