यूपी: अपहरण के मामले बढ़े, चार दिन बाद भी नहीं चला वकील का पता

(बुलंदशहर से सुमित शर्मा के साथ ब्यूरो रिपोर्ट) उत्तर प्रदेश से एक के बाद एक अपहरण के मामले सामने आ रहे हैं. ताजा मामला बुलंदशहर का है जहां से वकील संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गए हैं. वकील की बाइक मिल गई है जबकि उनका चार दिन बाद भी कोई पता नहीं चल सका है. पुलिस लाख कोशिशों के बाद भी नाकाम ही दिखाई दे रही है. लगातार बढ़ रहा अपराध और आपराधिक घटनाएं पुलिस की साख पर सवाल खड़े कर रही हैं.

राम मंदिर की नींव में इस जिले से जाएंगी 33 किलो चांदी से बनी 5 ईंटें

मामला बुलंदशहर के खुर्जा का है जहां के वकील धर्मेंद्र चौधरी 25 जुलाई की शाम अपने घर से किसी काम के लिए निकले थे. पुलिस ने डॉग स्क्वायड की मदद भी ली और ड्रोन से पूरा इलाका भी छान मारा लेकिन लापता अधिवक्ता का कोई पता नहीं चला. पुलिस ने अब शहर भर में गुमशुदगी के पोस्टर भी लगा दिए हैं. वहीं वकील के परिजन भी उनकी तलाश में जुटे हैं और परिवार के लोगों का हाल बुरा है.

हालांकि फिलहाल तक फिरौती आदि का कोई मामला सामने नहीं आया है. पुलिस के अधिकारियों ने कहा कि वे अपनी ओर से जीजान से कोशिशें कर रहे हैं.

यूपी में लगातार बढ़ रहे अपहरण के मामले

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में अपराध बेतहाशा बढ़ते नजर आ रहे हैं. कानपुर में एक शख्स की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई थी. इसके बाद गोरखपुर में भी अपहरण के बाद हत्या का मामला सामने आया.

कारगिल योद्धा बोला- आज भी अपने देश के लिए मर मिटने को तैयार हूं

कानपुर देहात में भी एक शख्स की फिरौती के लिए हत्या कर दी गई. हालात ऐसे बन चुके हैं कि डीजीपी को 12 बिंदु वाला एसओपी जारी करना पड़ा है.

अपहरण की बढ़ती घटनाओं पर विपक्ष काफी हमलावर है और सरकार पर सवाल उठा रहा है. सीएम योगी ने पुलिस को सख्त निर्देश दिए हैं और ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगाने को कहा है.